फर्जी मार्कशीट व सर्टिफिकेट बनाकर लोगों से धोखाधड़ी करने वाला आरोपी इंदौर पुलिस की गिरफ्त में

फर्जी मार्कशीट व सर्टिफिकेट बनाकर लोगों से धोखाधड़ी करने वाला आरोपी इंदौर पुलिस की गिरफ्त में

September 14, 2021

इंदौर। पुलिस उपमहानिरीक्षक इंदौर शहर श्री मनीष कपूरिया ने लोगों से छलकपट कर अवैध लाभ अर्जित करते हुये आर्थिक ठगी करने वाले अपराधियों की पहचान कर उनकी धरपकड़ करने हेतु इंदौर पुलिस को निर्देशित किया है। इन निर्देशों के तारतम्य में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (क्राईम ब्रांच) श्री गुरूप्रसाद पाराशर ने धोखा-धडी व ठगी के आरोपियों की पतारसी हेतु क्राईम ब्रांच की टीम का गठन कर टीम को योजनाबद्ध तरीके से समुचित कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

क्राईम ब्रांच की टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी कि तिलकनगर क्षेत्र में एक व्यक्ति पैसे लेकर फर्जी मार्कशीट और सर्टिफिकेट बनाने का काम करता है। सूचना पर क्राईम ब्रांच इंदौर व थाना तिलक नगर ने संयुक्त कार्यवाही करते हुये आरोपी सतीश गोस्वामी पिता उमाशंकर गोस्वामी को पकड़ा। आरोपी के कब्जे से पुलिस टीम ने सात मॉनीटर, 6 सीपीयू, दो प्रिंटर, चौदह फर्जी सर्टिफिकेट, पचास मार्कशीट के कोरे कागज, एक मोबाईल फोन, दो रजिस्टर (जिसमें फर्जी सर्टिफिकेट बनाये हुये कुल 554 नामों का उल्लेख) जप्त किए।

पूछताछ में आरोपी ने पिछले 4-5 वर्षो से 10 वी, 12वी और स्नातक की फर्जी मार्कशीट बनाने का कार्य करना कबूल किया। आरोपी महाराष्ट्र बोर्ड ऑफ हायर सेकेण्डरी एजुकेशन, राजस्थान बोर्ड, विलियम केरी यूनिवर्सिटी, मेवाड यूनिवर्सिटी, सनराईस यूनिवर्सिटि, संघाई यूनिवर्सिटी, डीआरसीबी रमन यूनिवर्सिटी, ओपीजीएस यूनिवर्सिटी, एसआरके यूनिवर्सिटी, आईसेक्ट यूनिवसिटी, आरकेडीएफ यूनिवर्सिटी आदि के फर्जी सर्टिफिकेट बनाता था। जिसके एवज में छात्रों से मोटी रकम वसूलकर 10वी, 12वी और स्नातक की फर्जी मार्कशीट देता था। आरोपी ने कुल 554 लोगों को फर्जी सर्टिफिकेट बनाकर दिए हैं और लगभग देढ़ करोड रूपये लिये हैं। आरोपी से अन्य साथियों के बारे में पूछताछ की जा रही हैं।

Police News Image
ind
District
Indore